अखिलेश बोले, मजबूरी में करना पड़ा कांग्रेस से गठबंधन, परिवार में कलह न होती तो अकेले उतरते चुनाव मैदान में

0
88

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में अभी चौथे चरण के मतदान की तैयारियां चल रही है,वहीं सपा के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अभी से हताश दिखाई दे रहे हैं। मुख्यमंत्री अखिलेश ने कहा कि कांग्रेस से गठबंधन सपा की सियासी मजबूरी है, उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले परिवार में कलह न होती तो कांग्रेस से हाथ नहीं मिलाना पड़ता है। पारिवारिक विवाह के कारण ऐसे हालात पैदा हो गए कि हमें मजबूरी में कांग्रेस को अपने साथ लेना पड़ा।

Also Read : अमरसिंह बोले यूपी को पसंद नहीं आएगा राहुल-अखिलेश का साथ

मुख्यमंत्री ने एक समाचारपत्र को दिए अपने इंटरव्यू में कहा कि मोदी को रोकने के लिए सपा व कांग्रेस का मुख्य मकसद है, इसलिए हम दोनो साथ-साथ है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने जो विकास कार्य किए है, जनता उन्हें अच्छे से जानती है, उन्होंने कहा कि कांग्रेस व सपा दोनों पार्टी अब एक साथ चुनाव प्रचार में लगे है। हमारा विश्वास है कि यूपी की जनता को यह गठबंधन रास आएगा।

गौरतलब है कि सपा में अंर्तकलह से पूर्व शिवपाल यादव कौमी एकता दल के समाजवादी पार्टी में विलय की बात कर रहे थे। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव नहीं चाहते थे कि इस पार्टी को समाजवादी पार्टी के साथ जोड़ा जाएं। बाद में समाजवादी पार्टी दो गुटों में बंट गई। सपा के शिवपाल गुट के अनेक उम्मीदवार भी इस चुनाव में अपनी किस्मत अजमाने में लगे हुए है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here