बिज़नेस मंत्र : जरूरी है एम्पलॉइज का फीडबैक

0
107

कंपनी को सही तरह से चलाने के लिए एम्प्लॉइज का फीडबैक जरूरी है। इससे सीनियर मैनेजमेंट को पता लग जाता है कि कंपनी की नीतियां और वैल्यू किस तरह से लागू हो रही है और वर्कफोर्स क्या सोच रहा है। सीनियर लीडर्स को फीडबैक के आधार पर जरूरी एक्शन लेने चाहिए ताकि कंपनी के प्रति एम्प्लॉइज का विश्वास बना रहे। आइए जानते है कि टॉप मैनेजमेंट किस तरह फीडबैक ले सकता है…

Also Read : बिजनेस को सफल बनाने के लिए ऐसे बनें कॉन्फिडेंट लीडर

फेस-टू-फेस बातचीत करें

कोई भी रिश्ता एकतरफा नहीं होता हैं। सीनियर लीडर्स को बातचीत में पर्सनल टच रखना चाहिए। आपको एम्प्लॉइज के साथ फेस-टू-फेस बातचीत करनी चाहिए। इससे पता लगता है कि आखिर एम्प्लॉइज क्या कहना चाहते हैं। एम्प्लॉइज से बात करने के लिए एक शेड्यूल तैयार करें। टीम सुपरवाइजर और मैनेजर्स को फीडबैक लेने के लिए तैयार करें।

प्रोएक्टिव बनें

सालाना सर्वे और पल्स सर्वे के आधार पर एम्प्लॉइज के विचारों को समझा जा सकता है। कंपनी चाहे तो ऐसी मीटिंग्स का आयोजन कर सकती है, जहां पर लीडर्स सीधे एम्प्लॉइज के साथ बात कर सकते हैं। प्रोएक्टिव तरीके से एम्प्लॉइज से बात करनी चाहिए।

टेक्नोलॉजी करें इस्तेमाल

आजकल एक कंपनी अलग-अलग जगह पर काम करती है। ऐसे में जरूरी है कि हर जगह पर काम करने वाले एम्प्लॉइज का फीडबैक लिया जाए। इसके लिए आप वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आइडियाज को शेयर करने में मदद मिलती है।

काम में लें कई तरीके

एम्प्लॉइज का फीडबैक लेने का कोई एक फिक्स तरीका नहीं है। आप कॉफी सेशन्स, फॉर्मल स्किप मीटिंग्स और वॉक एंड चैट सेशन्स आयोजित कर सकते हैं। इसके लिए लॉंग टर्म स्ट्र्क्चर फीडबैक की मदद भी ली जा सकती है।

फीडबैक के बाद लें एक्शन लें

बिना एक्शन के फीडबैक लेना महत्वहीन है। एम्प्लॉइज के मन में यह भावना न आने दें कि उनका फीडबैक बेकार चला गया हैं। अगर आप खास बिंदुओं पर एक्शन ले सकते हैं, तो इसके लिए झिझके नहीं। इससे एम्प्लॉइज के मन में विश्वास पैदा होगा। सोल्यूशन्स के लिए एम्प्लॉइज की मदद भी लें।

Also Read :
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें
Facebook Comments
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here