Knowledge Corner : जानिए ऐसा क्यों होता हैं। ऐसे बहुत से सवालों के जवाब जो बढ़ाए आपकी Knowledge Power

0
105

फूलों में खुशबू कहां से आती है?

रासायनिक यौगिकों का एक गुण भी हैं। फूलों में ही नहीं, प्रायः तमाम तत्वों में गंध पाते हैं। भोजन, शराब, फूलों, मसालों, सब्जियों वगैरह में गंध होती हैं। सभी फूलों में खुशबू नहीं होती । कुछ फूल गंधहीन होते हैं। कुछ दुर्गंध भी देते हैं। गुलाब की खुशबू जेरनायल एसीटेट नामक रासायनिक यौगिक के कारण होती है। चमेली की खुशबू नेरोलायडॉल के कारण होती है। फूलों से ही इत्र भी बनता हैं। फूलों की मुख्य भूमिका वनस्पतियों के प्रजनन में है। एक फूल से परागकण दूसरे में जाते हैं। इसमें हवा के अलावा मधुमक्खियों, तितलियों तथा इसी प्रकार के दूसरे प्राणियों की होती है। उन्हें आकर्षित करने में इनके रंग और सुगंध की भूमिका होती है।

चुनाव 5 साल बाद क्यों होते है।

सभी चुनाव पांच साल बाद नहीं होते। अलबत्ता हमारे संविधान के अनुच्छेद 63 (2) के अनुसार लोकसभा का कार्यकाल पांच वर्ष है। इसलिए लोकसभा चुनाव पांच साल में होते है। विधानसभाओं के साथ भी ऐसा ही है। लोकसभा पांच साल से पहले भी भंग की जा सकती है और विशेष परिस्थितियों में उसका कार्यकाल बढ़ाया भी जा सकता है। राज्यसभा में एक सदस्य का कार्यकाल छह साल होता है, पर चुनाव हर दो साल में होते हैं।

हॉलीवुड क्या है?

अमरीका के लॉस एंजेलस, कैलिफोर्निया में हॉलीवुड एक जिला है जो फिल्म उद्योग के लिए प्रसिद्व हैं। इसे यह नाम हचजे हिटले ने दिया, जिन्होंने 1870 के आस-पास यहां 500 एकड़ जमीन खरीदकर बस्ती बसाने की योजना बनाई। 1902 में यहां मशहूर हॉलीवुड होटल खुला। 1906 में यहां बायोग्राफ कंपनी ने एक फिल्म की शूटिंग की। धीरे-धीरे यह फिल्मों का शहर ही बन गया। हॉलीवुड का नाम दुनिया में फिल्म निर्माण के साथ जुड़ने के बाद फिल्म निर्माण से जुड़े शहरों ने अपने नाम के आगे वुड जोड़ना शुरू किया, जैसे बॉलीवुड, टॉलीवुड आदि।

चींटियां एक कतार में क्यों चला करती हैं?

प्रकृति ने सभी जीव-जंतुओं को दिशा ज्ञान और आपस में संपर्क की सामार्थ्य दी है। मधुमक्खियां अपने छत्ते के आसपास एक तरह की महक फैलाती हैं ताकि उनकी साथी मधुमक्खियां अपने रास्ते से न भटकें। चींटियां दिशा ज्ञान के लिए फैरोमोंस रसायन की मदद लेती हैं। वे सामाजिक प्राणी हैं और मिलकर काम करती हैं। उन्हें अपने भोजन के लिए अपने बिल से दूर बाहर जाना पड़ता है। उनके पास कोई नक्शा नहीं होता। वे अपने शरीर से एक तरह का सेंट जमीन पर छोड़ती जाती हैं। शेष चींटियां अपनी नेता के पीछे कतार में चलती जाती है। चींटियों की ग्रंथियों से इस रसायन का स्त्राव होता है। यह स्त्राव दूसरी चींटियों को रास्ता बताने का काम करता है। इस रसायन की महक ज्यादा देर तक नहीं टिकती है। इसलिए पीछे आने वाली चींटियां उसे ताजा बनाए रखने के लिए उस पर फेरोमोंस लगाते हुए एक कतार में चलती रहती है। चींटियों के दो एंटीना होते हैं, जिनका इस्तेमाल वे सूंघने या टोह लेने के लिए करती हैं। रानी चींटी भोजन की तलाश में निकलती है तो फैरोमोंस छोड़ती जाती है। दूसरी चींटियां अपने एंटीना से उसे सूंघती हुई रानी चींटी के पीछे चलती जाती है। जब रानी चींटी फैरोमोंस बनाना बंद कर देती है तो चींटियां नई चींटी को अपनी रानी चुन लेती है। फैरोमोंस का इस्तेमाल दूसरी जगह भी होता हैं। कोई चींटी कुचल जाएं तो फैरोमोन का रिसाव करती है, इससे बाकी चींटियां सतर्क हो जाती है।

कम्प्यूटर कुकीज क्या होती है?

कुकीज एक छोटी फाइल होती है, जो कम्प्यूटर की हार्ड डिस्क में सेव होती जाती है। अक्सर कम्प्यूटर सेव करने से पहले आपकी वरीयता पूछता भी है। हम कुकीज को स्वीकार या अस्वीकार कर सकते हैं। ज्यादातर वेब ब्राउजर स्वतः इसे स्वीकार करते हैं, लेकिन आप चाहें तो ब्राउजर की सेटिंग में संशोधन कर सकते हैं। कई बार होता है कि कई वेबसाइट नहीं खुलती तो संदेश आ जाता है कि अपनी कुकीज सेटिंग बदलें। यह फाइल वेब ट्र्ैफिक का विश्लेषण करने और किसी विशेष वेबसाइट पर जाने में मदद करती है। कुकी उन वेब एप्लीकेशन्स के संचालन में मददगार होती है, जो इंटरनेट पर हमारी प्राथमिकताओं और रुचि आदि पर निगाह रखते हैं। इनकी मदद से वेबसाइट संचालक जान पाता है कि कौन वेबसाइट पर कितनी देर रहता है और क्या देखता है। कुकीज एक छोटा सा टेक्स्ट मैजेस होता है। यदि हम ब्राउजर की मदद से कुकीज को अस्वीकार कर दें तो कुछ साइट खुलने से इंकार कर देती है। गूगल भी आप तक पहुंचने में कुकी इा प्रयोग करता है। आपने देखा हो कि जब आप नेट के माध्यम से खरीदारी करते हैं तो उसके बाद ज्यादातर वेबसाइटों पर उसी वस्तु के विज्ञापन आने लग जाते हैं। गूगल एंडसेंस के विज्ञापन आपकी पसंद के अनुरूप ही दिखाए जाते है।

फीफा रैकिंग क्या है?

अंतरराष्ट्र्ीय फुटबॉल एसोसिएशन का संक्षिप्त नाम फीफा हैं। यह संगठन अपने सदस्य देशों की टीमों के प्रदर्शन के आधार पर हर महीने उनके प्वाइंट्स जारी करता है। ये प्वाइंट्स उनके पिछले चार साल के प्रदर्शन पर आधारित होते है। इस रैंकिंग की शुरूआत वर्ष 1992 में हुई थी। जब से रैंकिंग की शुरूआत हुई है, दुनिया की पहली आठ टीमें अर्जेंटीना, बेल्जियम, ब्राजील, फ्रांस, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड और स्पेन रहती है। केवल इनके क्रम में फर्क पड़ता है।

राष्ट्र्पति भवन में पहली बार तिरंगा कब फहराया गया?

भारतीय संविधान सभा ने 22 जुलाई 1947 को तिरंगे को राष्ट्र्ीय ध्वज के रूप में स्वीकार किया। 14 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि के आस-पास यह संसद भवन के सेंट्र्ल हॉल में फहराया गया। इसी कार्यक्रम में श्रीमती हंसा मेहता ने यह राष्ट्र्ीय ध्वज राष्ट्र्पति डॉ़ राजेंद्र प्रसाद को भेंट किया। 15 अगस्त 1947 की भोर इसे राष्ट्र्पति भवन पर फहराया गया।

बुढ़ापे में याददाश्त कमजोर क्यों हो जाती है?

समय बीतने के साथ स्नायु कोशिकाएं थकान का शिकार होती जाती हैं और मेटाबॉलिज्म के फलस्वरूप उनमें टॉक्सिन एकत्र होता जाता है। इससे उनकी क्रियाशीलता कम हो जाती है। याद रखना, चूंकि स्नायु एक क्रिया है इसलिए बुढ़ापे में यह क्रिया कमजोर हो जाती है।

चीजों के दाम 599, 699, 799 रखने के पीछे क्या अवधारणा है?

यह बाटा प्राइस है। इसकी शुरूआत बाटा कंपनी ने की थी। इसका उद्देश्य यह था कि चीज की कीमत राउंड फिगर से थोड़ी कम रखी जाएं, ताकि वह कम लगे। 15 रुपए की कीमत 14 रूपए 15 आने और नए पैसे की शुरूआत होन पर 14 रुपए 95 पैसे लिखने पर यह ज्यादा आकर्षक लगती थी। अब 500 रुपए की चीज 499 लिखने पर कम लगती है।

Note : Knowledge is power रोजाना हमारे जेहन में बहुत से सवाल घूमते हैं कि आखिर ऐसा क्यों होता हैं Knowledge Corner ऐसे सवालों के जवाब देकर लोगों की जिज्ञासा को शांत करने में मदद करता है। यदि आपके पास भी कुछ सवालों के जवाब हो और वह Knowledge हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो हमें email करें। हम इसे आपके नाम के साथ इस कॉर्नर में शामिल करेंगे।

knowledge.live18@gmail.com

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here