बिजली का बिल कम करना चाहते हैं, तो जानिए बिजली बचाने का Top Secret

0
279
power saving secret

बिजली का बिल कैसे कम किया जाएं, यह हर आम घर के लिए चिंता का विषय है। बिजली लोगों की दिनचर्या का आवश्यक हिस्सा बन चुकी है। चाहे घर हो या ऑफिस, बिना बिजली के कहीं भी काम चलना मुश्किल है। ऐसी स्थिति में जरूरी है कि आप बिजली बचत के तरीकों को अपनाकर इस मद में कुछ बचत करें। यदि आप अपने घर और ऑफिस में छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखें तो बिजली की काफी बचत कर सकते हैं और इससे आपका बिजली का बिल भी कम आएगा।

Also Read : गर्मी से बचने के लिए अपनाइए ये कूल-कूल टिप्स

लाइट

एलईडी का प्रयोग करें। इसमें स्तरीय बल्बों की अपेक्षा 66 प्रतिशत कम बिजली प्रयोग होती हैं और इस प्रकार कुछ आठ गुणा बिजली की बचत होती है। एलईडी के प्रयोग से 25 हजार रूपए प्रतिवर्ष की बचत कर सकते हैं। बल्ब-ट्यूबलाइट आदि को दो-तीन दिन में एक बार कपडे़े से साफ करें। इन पर धूल जमने से रोशनी पर असर पड़ता।

एयर कंडीशनर

एसी को सीलिंग फैन के साथ इस्तेमाल करें। इससे एसी की ठंडी हवा कम समय में पूरे कमरे में फैल जाएगी और बिजली की बचत होगी। एसी यूनिट को साफ रखें और उस पर फिल्टर लगाएं। एसी की महीन प्लास्टिक नेट को बाहर निकालकर धो दें और पुनः लगा दें। इससे ठंडक तो बढ़ेगी ही बिजली भी बचेगी।

Also Read : कोक के पूर्व अधिकारी का सनसनीखेज खुलासा “प्यासे रह जाना पर कोका कोला कभी मत पीना”

कम्प्यूटर

एक दिन 12 घंटे कम्प्यूटर बंद कर तीन हजार रुपए प्रतिवर्ष की बचत कर सकते हैं। स्क्रीन सेवर से बिजली की बचत नहीं होती, वे केवल आपके स्क्रीन की सुरक्षा करते हैं। इसलिए कम्प्यूटर पर स्लीप मोड या उर्जा बचत की विशिष्टता का प्रयोग करें। स्लीप मोड से औसत कम्प्यूटर कम बिजली का प्रयोग करता है। दस मिनट से अधिक समय तक कम्प्यूटर से दूर रखने की स्थिति में मॉनीटर को बंद कर दें। डेस्कटॉप कम्प्यूटर के स्थान पर लैपटॉप का प्रयोग करें। लैपटॉप में कम विद्युत का प्रयोग होता है। मॉनीटर जितना छोटा होगा, उतनी ही बिजली की खपत कम होगी।

टेलीविजन

साधाराण टीवी की तुलना में उस साइज के प्लाज्मा टीवी में दोगुनी उर्जा का प्रयोग होता है। टीवी जितनी बड़ी होगी, उतनी ही बिजली की खपत अधिक होगी।

Also Read : जंक फूड खाने से बचें, सेहत को ये हैं नुकसान

वॉशिंग मशीन

कपड़े ठंडे पानी से धोएं और इस प्रकार तीन हजार प्रतिवर्ष की बचत करें। वॉशिंग मशीन में पानी गर्म करने से लगभग 85-90 प्रतिशत उर्जा का अधिक प्रयोग होता है।

रेफ्रिजरेटर

15 वर्ष से अधिक पुराना रेफ्रिजरेटर चलाने में पांच हजार रुपए प्रतिवर्ष खर्च अधिक आता है जबकि नया फ्रिज चलाने से बिजली कम खर्च होती है। केवल कुछ खाने-पीने की चीजों को ठंडा रखने के लिए छोटे फ्रिज का प्रयोग करें। फ्रिज के तापमान को मध्यम रेंज पर सेट करें। खाने-पीने की चीजों को फ्रिज में रखने से पहले ठंडा कर लें। फ्रीजर को समय-समय पर डी-फॉस्ट कर दें। इससे अधिक बर्फ नहीं जमेगी और रेफ्रिजरेटर का कूलिंग पावर भी सही रहेगा।

Also Read :

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

Facebook Comments
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here